Khan Sir: खान सर कहां के रहने वाले हैं Khan Sir Life Story in Hindi (2024 Update)

Khan Sir Life Story खान सर के परिचय की कोई जरूरत नहीं है, फिर भी आपको बता दें कि खान सर शिक्षक हैं। खान सर का पूरा नाम फैजल खान है। खान सर मानचित्र विशेषज्ञ हैं। Khan GS Research Center क्लासरूम पटना का सबसे बड़ा क्लास रूम है। लोग उन्हें अब्दुल कलाम के नाम से भी बुलाते हैं।

तो दोस्तों आज हम आपको खान सर की जीवनी के बारे में पूरी जानकारी हिंदी में बताने की कोशिश करेंगे। तो चलिए शुरू करते हैं इस पोस्ट में हम आपको पूरी जानकारी देंगे जिससे आपको किसी और पोस्ट पर जाने की जरूरत नहीं है।

खान सर की पूरी जीवनी हिंदी में

खान सर का पूरा नाम फैजल खान है और उनका जन्म उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक मध्यमवर्गीय परिवार में हुआ था। उनके पिता सेना में थे, और उनकी माँ एक गृहिणी हैं। उनका एक बड़ा भाई है जो सेना में कमांडो है। खान सर देश की सेवा करना चाहते थे उन्होंने एनडीए की परीक्षा पास की, लेकिन जब मेरा फिजिकल टेस्ट हुआ तो एक हाथ टेढ़ा पाया गया और मुझे रिजेक्ट कर दिया गया।

उन्होंने खान जीएस रिसर्च सेंटर नाम से एक यूट्यूब चैनल शुरू किया, यह पटना में है और आज पूरे भारत के बच्चे चैनल के माध्यम से पढाई कर रहे हैं और अपने करियर सक्षम हो रहे हैं। वह अपनी शिक्षण शैली के कारण प्रसिद्ध हैं और इसीलिए YouTube पर सभी छात्र बड़ी रुचि के साथ देखते और पढ़ते हैं, और विषय को बहुत अच्छे से समझाते हैं। लोग उन्हें अब्दुल कलाम भी कहते हैं।

Khan Sir Life Story In Hindi

खान सर के पिता फौज में थे, इसलिए जब खान सर ने 8वीं पास की तो उन्हें लगा कि उन्हें भी अपने पिता की तरह सैनिक में भर्ती किया जाए, फिर उन्होंने सैनिक स्कूल में प्रवेश परीक्षा दी लेकिन चयन नहीं हुआ। फिर उन्होंने पॉलिटेक्निक दिया लेकिन उसमें उनका रैंक अच्छा नहीं था। फिर उन्होंने नॉर्मल मैट्रिक और इंटर की पढ़ाई की। उसके बाद एनडीए की परीक्षा दी, रिजल्ट भी आया लेकिन फिजिकल टेस्ट में रिजेक्ट हो गए।

खान साहब को सेना का ज्ञान अच्छा है क्योंकि वह एनसीसी में शामिल हुए थे। जिस वजह से सिपाही से जुड़े हथियार की जानकारी थी और सिपाही में पास जाने का जुनून भी। इसके अलावा उन्होंने और कोई सपना नहीं देखा था कि अपने जीवन में कुछ और करें या नहीं। फिजिकल टेस्ट से रिजेक्ट होने के बाद उनके लिए यह मुश्किल स्थिति बन गई कि अब क्या करें।

Also Read जीवन में अधिक बोझ महसूस हो, इसे अवश्य पढ़ें

फिर उसके बाद उन्होंने नॉर्मल बीएससी की पढ़ाई शुरू की। लेकिन साथ ही आर्थिक स्थिति भी ठीक नहीं थी। खान सर के तीन दोस्त थे उनमे से एक ने खान साहब को अध्यापन करने को कहा, ताकि कुछ आमदनी होने लगे। फिर खान सर ने छोटे बच्चे को होम ट्यूशन पढ़ाना शुरू किया।

लोग कहते हैं कि एक बच्चे को समझाना बहुत मुश्किल होता है, लेकिन उन्होंने उस बच्चे को अपने अंदाज में पढ़ाया, समझाया ताकि वह स्कूल में पास हो जाए और पढ़ाई में तेज हो जाए।

इसके बाद खान सर कोचिंग में पढ़ाने चले गए। पहले दिन उन्हें केवल 6 छात्रों को पढ़ाने के लिए मिला। उस समय खान सर की पूरी दाढ़ी भी नहीं थी। जिससे दूसरे लोग सोच सकते थे कि खान साहब शिक्षक हैं या छात्र।

दोस्तों कहानी अब शुरू होती है। जब 6 छात्रों से 50 छात्र हो गए फिर 150, धीरे-धीरे करके बढ़ने लगे। तब कोचिंग मालिक ने खान साहब से कहा कि आपको इन बच्चों को अपना मोबाइल नंबर, पता देने की जरूरत नहीं है। खान साहब ने कहा ठीक है, नहीं देंगे।

तब खान साहब को लगा कि छात्र से पैसा कम लिया जाए तो ज्यादा छात्र आ सकते हैं। लेकिन कोचिंग मालिक ने मना कर दिया। फिर खान सर को कोचिंग छोरना पर गया। इसके बाद उन्होंने Khan GS Research Center खोला, फिर ऑनलाइन भी पढ़ाना शुरू कर दिए।

Faizal Khan Sir Biography

Full NameFaizal Khan ( फैज़ल खान )
NicknameKhan Sir ( खान सर )
ProfessionTeacher (शिक्षक )
Date of Birth03 June 1986
Ageउम्र 37 Years
Birth PlaceGorakhpur, U.P
HometownPatna, Bihar
ReligionMuslim
NationalityIndian
FatherRetired Army Officer
MotherHome Maker
BrotherArmy Officer
Source Of IncomeKhan GS Research Centre Patna
Famous Teaching Style (पढ़ाने के तरीके)
Net WorthEstimated 50 lakh – 1.6 Crore INR
Faizal Khan Sir Wikipedia table

Also Read: Ashu Ghai Net Worth , Age, Career और जीवन के बारे में

खान सर ने कब पढ़ाना शुरू किया?

खान सर ने एक कोचिंग सेंटर शुरू किया और सभी छात्रों को ऑफलाइन और ऑनलाइन पढ़ाना शुरू किया। वह कभी किसी धर्म के खिलाफ नहीं थे और सभी छात्रों का सम्मान करते थे। उन्होंने पटना में खान जीएस रिसर्च सेंटर, सबसे बड़ा कोचिंग सेंटर खोला और इसके साथ ही उन्होंने पटना में सबसे बड़े पुस्तकालय की स्थापना की।

शुरुआत में उनके कोचिंग में छात्र कम थे, लेकिन जिस तरह से वे बढ़ते गए, उसे देखते हुए उनकी कोचिंग बहुत तेजी से बढ़ी। जब खान सर छात्रों के बीच प्रसिद्ध होने लगे तो उन्होंने खान जीएस रिसर्च सेंटर के नाम से अपनी कोचिंग खोली। और बहुत कम पैसे में छात्र को पढ़ाना शुरू किया। वह एक बार में 5000 छात्रों को पढ़ाते हैं और कुछ लोग जगह की कमी के कारण वेटिंग लिस्ट में खड़े हो जाते हैं। ऐसे में ऑनलाइन कक्षाएं शुरू की गई हैं, जिसमें अब वे लाखों छात्रों को पढ़ा रहे हैं।

खान सर कब से ऑनलाइन पढ़ा रहे हैं?

खान सर ने 2020 (पहले कोरोना काल के समय) से ऑनलाइन पढ़ाना शुरू किया था। जब देश और दुनिया में कोरोनावायरस के कारण लॉकडाउन लगा था। लाॅकडाउन लागू होने के कारण सभी कॉलेज, स्कूल, कोचिंग काफी समय से बंद थे तो खान सर ने ऑनलाइन टीचिंग के लिए एप बनाया। उस ऐप का नाम है खान सर ऑफिशियल इसके अलावा खान सर ने यूट्यूब पर रेगुलर वीडियो अपलोड करना शुरू कर दिया

खान सर के प्रसिद्ध होने का क्या कारण है?

खान सर किसी भी विषय को बहुत अच्छी तरह से समझाते हैं, लोग उन्हें बहुत पसंद करते हैं, खान साहब के प्रसिद्ध होने का कारण उनकी शैली और पढ़ाने की भाषा है। खान सर बिहारी भाषा में पढ़ाते हैं और यह भाषा भोजपुरी और हिंदी का मिश्रण है जिसे कोई भी छात्र आसानी से समझ सकता है। खान साहब के पढ़ाने का तरीका इतना सुलभ है कि छात्र कितना भी कमजोर क्यों न हो, खान सर ने जो पढ़ाया है उसे वह आसानी से समझ सकता है।

दोस्तों खान सर पहले से ऑफलाइन फेमस तो थे ही लेकिन जब इन्होने अप्रैल 2019 में अपना यूट्यूब चैनल शुरू किया। इसके बाद से कोरोना महामारी के कारन  स्कूल कॉलेज सभी बंद थे। लोग इस दौरान ऑनलाइन पढाई करना शुरू कर दिया। और खान सर को लोग पहले से जानते थे। खान सर को ऑनलाइन आने बाद लोगो को फ्री में पढाई करने का मौका मिला। जो कभी कोचिंग भी नहीं गए वह भी ऑनलाइन पढ़ना शुरू कर दिए।

सीबीएसई बोर्ड के लोगों से नफरत क्यों करते हैं?

खान सर अक्सर अपने वीडियो में सीबीएसई बोर्ड से पढ़ने वाले लड़के-लड़कियों का टिपण्णी करते हैं और इसका सबसे बड़ा कारण भेदभाव है। दरअसल हुआ यह कि जब खान सर बिहार बोर्ड छोड़कर सीबीएसई बोर्ड से पढ़ने चले गए। खान सर कहते हैं कि सीबीएसई बोर्ड में पढ़ने वाला छात्र अक्सर गोरा होता है और मैं काला हूं।

जब मैं कक्षा में जाता था तो सभी छात्र मुझे काला-काला कहकर चिढ़ाते थे, अरे लोग कहते थे देखो-देखो काला आ गया। तब मुझे बहुत बुरा लगा और सीबीएसई बोर्ड से पढ़ाई छोड़ दी और फिर बिहार बोर्ड से पढ़ाई जारी रखी।

  1. Khan Sir (Khan GS Research Centre) का असली नाम क्या है?

    फैजल खान

  2. खान साहब की आय कितनी है?

    खान सर की आय का मुख्य स्रोत उनकी कोचिंग और यूट्यूब चैनल है। खान सर ने अभी तक अपडेट नहीं किया है लेकिन अनुमानित मंथली इनकम 50 लाख से ज्यादा है।

  3. Khan GS Research Center प्रसिद्ध होने का क्या कारण है?

    Khan Sir के पढ़ाने का तरीका इतना सुलभ है कि छात्र कितना भी कमजोर क्यों न हो, खान सर ने जो पढ़ाया है उसे वह आसानी से समझ सकता है।